HOT STORY CLUB

SEX STORIES ARCHIVE

अरब में हुआ लंड का स्वागत

similar

नमस्ते और हाय मेरे भाइयों और फ्रेंड्स, मेरा नाम है डेनियल चौकसे और मेरा ये नाम कैसे पड़ा ? ये एक बहुत लम्बी कहानी है लेकिन मैं शोर्ट में बता देता हूँ | मेरी मम्मी क्रिस्चियन और पापा हिन्दू और दोनों की लव मैरिज हुई थी, तो इसलिए मेरा नाम ऐसा है | पहले मुझे ये बहुत बुरा लगता था क्यूंकि मेरे नाम का मज़ाक उड़ता था लेकिन इसके फायेदे भी हैं, मुझे क्रिस्चियन और हिन्दू दोनों लड़कियाँ मिलती है और इसलिए मुझे अब बहुत ख़ुशी भी होती है इस बात की | इसलिए मैंने सोचा क्यूँ ना कुछ अच्छा काम ही कर लूँ क्यूंकि मुझे चूत चोदने का बड़ा मन था | इसलिए नहीं क्यूंकि मैंने कभी चूत नहीं चोदी पर इसलिए भी क्यूंकि मैंने चूत को कभी साक्षात नहीं देखा था | मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि शादी से पहले मुझे ऐसा कुछ मिलेगा पर जब किस्मत मेहरबान होती है तब तो साहब कुछ भी हो सकता है | मुझे चूत की गहराई को नापना था इसलिए मैंने सोचा अब मैं एक लड़की को पटा लेटा हूँ पर साला मेरे नाम की वजह से थोड़ी दिक्कत हो रही थी | ऐसी वैसी दिक्कत कोई नहीं थी | डेनियल की वजह से हिन्दू लड़कियाँ बिचक जाती थी और चौकसे की वजह से क्रिस्चियन |

मैं एक अजीब सी कंडीशन में फस गया था और काफी समय बीत जाने के बाद मैंने सोचा चलो हटो यार जाने दो | मैं थक गया था क्यूंकि कोई लड़की नहीं मिल रही थी और मेरी पढ़ाई भी काफी प्रभावित हो रही थी | फिर मैंने सोचा चलो अपन पढाई ही कर लेते हैं | भगवान् ने मेरे लिए कुछ अच्छा ही सोचा होगा | मैं भी मन लगा के पढ़ाई करने लगा और उसके बाद मैंने सोचा चलो यार अब तो कुछ न कुछ हो ही जाएगा | मतलब लड़की मिले न मिले पर औकात बढ़ जाएगी जिससे कोई भी लड़की मना नहीं कर पाएगी | इसलिए मैंने मस्त पढ़ाई की और उसके बाद जैसे ही मेरा कॉलेज ख़त्म हो गया | मैंने आगे की पढ़ाई के लिए फॉर्म भर दिया | उससे दो चीज़ हुई एक तो मैं पूरे प्रदेश में अव्वल आ गया और दूसरा मेरे माँ बाप बहुत खुश थे | मेरे लिए इससे ज्यादा गर्व की बात कोई नहीं थी | पर इससे एक चीज़ ज़रूर हो गयी थी और वो ये थी कि मुझे लोग पहचानने लगे थे |

मुझे बहुत अच्छा लगा और जब मैं आगे की पढ़ाई करने की बात घर में करने गया तो पापा और माँ मुझे गौर से देखने लगे | उन्होंने कहा बेटा अब तो बस कर और कितना पढ़ेगा | मैंने कहा अब तो आपका नाम और ऊपर तक लेकर जाना है | उन्होंने कहा ठीक है पर पैसे कितने लगेंगे ये तो बता | मैंने कहा मुझे अब सरकार से पैसा मिलेगा और उसके बाद मुझे जिस कॉलेज में दाखिला मिला वहां पढ़ाने के अलग से पैसे मिलेंगे | उन्होंने कहा लो भाई हमारा लड़का तो कमाऊ बन गया | मैंने कहा बस आप लोगों की मेहनत और आशीर्वाद का नतीजा है जो आज मैं इतना आगे तक पहुँच पाया हूँ | फिर वही हल्का सा रोना गाना और आँखों में ख़ुशी | फिर क्या था मैं चला गया दूसरे देख और वो देश आप सब के लिए एक जन्नत जैसा है | जी हाँ मैं दुबई की बात कर रहा हूँ | जैसे ही मैं वहां पहुंचा हूँ मुझे बिलकुल एक बड़े अधिकारी जैसे कॉलेज तक ले जाया गया | मैं ऐसी कार में गया था जिस कार के बारे में लोग यहाँ सोचते रह जाते हैं | मैं अपने आप में बड़ा गर्व फिर से महसूस करने लगा |

जैसे ही मैं कॉलेज पहुंचा सब एक से एक और मैं बड़ा आम सा लड़का उनके बीच में | मैंने सोचा बेटा जैसा देश है वैसा भेस कार्लो नहीं तो पीछे रह जाओगे | मैंने भी अगले दिन नए कपड़े पहने और मस्त बाल कटवाए और पहुँच गया उनके बीच | बॉडी तो मेरी मस्त थी ही इसलिए मुझे कपड़े मस्त फिट आ रहे थे | मुझे कई लडकियां देख रही थी और मेरी क्लास में भी एक से एक माल थे | मैंने सब से दोस्ती की और एक बताऊँ साला बाहर की लडकियां भाव नहीं खाती | उन्हें कोई मतलब नहीं किसी चीज़ से | मैं भी मस्त आराम से सबके साथ कुछ भी कर लेता था | एक बार तो शर्त शर्त में मैंने एक मस्त माल को किस कर लिया | वो मुझसे पट गयी थी और उसके बाद क्लास में जितनी लड्कियां थी किसी के दूध दबाये किसी की कमर पे किस किया और न जाने क्या क्या ? पर मैं चूत तक नहीं पहुँच पाया और ये अच्छा भी था क्यूंकि सारी लडकियां चुदवाने को तैयार थी और मैं किसी को भी उदास नहीं करना चाहता था | उसके बाद मुझे पता चला कि एक नयी मैडम आने वाली है |

उसके बाद मैंने सोचा चलो देखते हैं कैसी माल होगी | जैसे ही उसका पीरियड आया है तो मैं उसे देखता रह गया | उसके बाद मैंने अपने एक दोस्त से कहा यार इसकी चूत को मैं ही मारूंगा | मेरे दोस्त ने कहा बेटा ये बहुत रहीस है शेख की बेटी है | मैंने कहा कुछ भी हो मेरे लंड के नीचे आएगी ये | उसके बाद मैंने बहुत मन लगा के पढ़ाई करना चालु किया और उसने मुझे पहचान लिया | पर साली थी बड़ी कड़क | उसके पास जाना मतलब ख़ुदकुशी करना | वो इतनी कड़क थी कि अगर उससे कोई मज़ाक भी कर दे तो वो उसकी इज्ज़त धो देती थी और उसके साथ बॉडी गार्ड चलते थे वो अलग | पर मेरी बात अलग थी उसने मुझे कहा डेनियल आप मेरे साथ चलो और अब से मेरा काम और क्लास तुम देखना मैं तुम्हे पूरे पावर्स दे रहीं हूँ | उसके बाद मेरे मन में तो लड्डू ही फूट गया | उसके बाद मैंने उसके मन में इतनी इज्ज़त बना ली कि अगर मैं कह दूँ मैडम मुझे आपके साथ घूमने चलना है तो वो मना नहीं कर सकती थी |

एक दिन की बात है मैंने उसे फोन किया और पूछा आज आप आये नहीं तो उसने कहा यार आज मूड नहीं था | मैंने कहा कोई दिक्कत है तो उसने कहा नहीं तुम काम करो | मैंने जोर दिया और फिर पूछा और उसने मुझे चिल्लाते हुए कहा अपने काम से काम रखो | मेरी लाइफ है मैं देख लुंगी और फोन काट दिया | मैंने उसे मेसेज किया और कहा सुनो अगर वाकई में मुझे कुछ मानती हो तो एक काम करना मॉल में कोफ्फे पीने आ जाना | मैंने सोचा नहीं था पर वो आ गयी | उसने कहा यार सॉरी मैं थोडा गुस्से में थी पर तुम बुलाओ और मैं ना कर दूँ ऐसा कभी हो नहीं सकता | मैंने कहा सही कहा मुझे भी तुमसे प्यार हो गया है | उसने कहा यार पापा शादी के लिए बोल रहे थे और मैं उनको कैसे बताऊँ मैं तुमसे शादी करना चाहती हूँ | मैने कहा चलो कल पापा से मिल लेते हैं | उसने कहा यार कैसे करोगे ये सब तो मैंने उसे गले लगाया और कहा जान मैं हूँ ना बस अब टेंशन मत लो |

मैं अगले दिन उसके घर गया और सीधा उसके बाप के पास | मैंने अपनी बात में उसको ऐसा लिया कि वो मेरा मुरीद हो गया | उसने कहा बेटा कल शादी है आपकी | पर जब मैं उसके घर गया तो मैंने देखा साला ये तो इतनी रहीस है कि बड़े बड़े रहीसों को खरीद ले | अब मैं उसके कमरे में गया और उसने मुझे गले लगा लिया | मैंने कहा सुनो शादी कल है अब मैं सुहागरात अभी मना लेता हूँ | उसने भी मना नहीं किया और मुझे किस करने लगी | मैं भी उसे किस करने लगा और उसके बाद मैंने अपने कपड़े उतार दिए | मैंने पढ़ा था अरब की औरत अपनी गांड नहीं मरवाती और मैंने भी उसकी गांड के बारे में सोचा नहीं पर उसकी गांड थी कमाल | मैंने उसको भी नंगा किया और उसके दूध चूसने लगा | वो भी मुहे सहलाने लगी और उसके बाद मैंने उसकी चूत की तरफ अपना रुख किया और उसकी चूत को चाटने लगा | वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊम्ह ऊंह आहा ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊम्ह ऊंह आहा ऊम्ह करते हुए मेरा साथ देने लगी |

फिर मैंने उससे कहा मेरा लंड चूसो और जैसे ही उसने मेरा लंड मुह में लिया मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊम्ह ऊंह आहा ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊम्ह ऊंह आहा ऊम्ह करने लगा | फिर मैंने देर न करते हुए उसकी चूत में लंड पेल दिया और उसको चोदने लगा | उसे दर्द हो रहा था और मुझे भी | उसकी चूत से हल्का सा खून निकला और उसके बाद मैंने उसे आधे घंटे तक चोदा | उसके बाद मैंने उसकी चूत में ही अपना मुट्ठ डाल दिया |

फिर हमारी शादी हो गयी और हम खुश हैं |

Related Post

similar

Updated: April 19, 2018 — 10:30 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HOT STORY CLUB © 2018 Frontier Theme